पायलट के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद एयर इंडिया ने दिल्ली-मॉस्को फ्लाइट को वापस बुलाया

Must Try

Hindi News- एयर इंडिया के एक विमान ने शनिवार की सुबह दिल्ली से मास्को तक जाने के लिए उड़ान भरी पर विमान के पायलट के Covid-19 पॉज़िटिव होने के कारण उज्बेकिस्तान के ऊपर से दिल्ली वापस बुलाना पड़ा। चालक दल के सदस्यों की प्री-फ़्लाइट टेस्ट रिपोर्ट की जाँच कर रही टीम ने इस पायलट की पॉज़िटिव रिपोर्ट को नेगेटिव पढ़ा था और उसे फ़ेरी फ़्लाइट (जिसका अर्थ केवल यात्रियों लाने वाली फ्लाइट) के लिए जारी किया था, ये मास्को से भारतीयों को वापस ले जाने वाली थी फ्लाइट थी इसमे कोई यात्री नही था।

नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) इस मामले की जांच कर रहा है। डीजीसीए के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, “प्रथम दृष्ट्या एक चूक के रूप में प्रतीत होता है।”

सूत्रों के हवाले से खबर आरही है की एयर इंडिया के इस विमान ने शनिवार सुबह मास्को के लिए उड़ान भरी थी रास्ते मे पायलट की रिपोर्ट कोरोना पॉज़िटिव का पता चलने के कारण इस विमान को उज्बेकिस्तान के ऊपर से वापिस बुला लिया गया। अब विमान को फ़्यूमिगेट कर नए क्रू के साथ वापिस भेजा जाएगा।

ये भी पढे -  चीन पाकिस्तान जैसे दुश्मनों से निपटने के लिए जल्द ही अमेरिका की तर्ज पर देश मे थिएटर कमांड
Air_India
Sample Photo

इस संबंध में पूछे जाने पर, एयर इंडिया ने इस मामले पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, हालांकि मॉस्को में भारतीय दूतावास ने कहा कि मॉस्को से जयपुर के लिए दिल्ली के माध्यम से उड़ान ‘तकनीकी कारणों’ के कारण देरी हुई। फ्लाइट को स्थानीय समयानुसार सुबह 11.5 बजे रवाना होना था। उन्होंने अभी तक उड़ान के लिए कोई नया समय नहीं दिया है।

ये भी पढे -  Crazy Uncle Telugu Full Movie (2021) Download Hindi Dubbed leaked by Tamilblaster and Movierulz

आप को बता दे की कोरोना संकट के कारण विदेशों में फंसे भारतीयों के देश वापस जाने के लिए एक अभियान चलाया जा रहा है जिसे वंदे भारत मिशन नाम दिया गया है । वंदे भारत मिशन के तीसरे चरण की तैयारी भी शुरू हो गई है। वर्तमान में, वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण चल रहा है। वंदे भारत मिशन के दूसरे चरण के हिस्से के रूप में, सरकार 60 देशों में फंसे एक लाख नागरिकों को वापस लाने की योजना बना रही है।

ये भी पढे -  आज बॉलीवुड के कई बड़े अभिनेता आएंगे शाम को 4:30 बजे लाइव होगा बड़ा एलान

वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण पहले 22 मई को समाप्त होना था। हालांकि, सरकार ने इसे 13 जून तक बढ़ा दिया। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने मंगलवार को इस व्यापक अभियान में शामिल सभी एजेंसियों और मंत्रालयों के साथ बैठक की। विदेश मंत्री ने ट्वीट किया कि बैठक का उद्देश्य वंदे भारत मिशन का विस्तार करना और इसकी क्षमता बढ़ाना था। उन्होंने कहा कि दूसरे चरण में, 60 देशों से एक लाख भारतीयों को वापस लाने का लक्ष्य है। मिशन का दूसरा चरण 17 मई से शुरू हुआ।

ये भी पढे -  अब तक देश मे रिकॉर्ड तोड़ 16,922 मामले, 24 घंटे में ठीक होने वालों की संख्या 13 हजार

विदेश मंत्री ने कहा कि भारतीय सीमावर्ती इलाकों से मंगलवार को सड़क मार्ग से स्वदेश लौट रहे हैं। वंदे भारत मिशन का पहला चरण 7 मई से शुरू हुआ, जो 15 मई तक चला। इसमें सरकार ने 12 देशों के करीब 15 हजार भारतीयों को निकाला।

ये भी पढे -  कोरोना वैक्सीन अपडेट: सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक टीके के आपातकालीन उपयोग को मंजूरी दी पीएम मोदी ने भी बधाई दी
Loading...
- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -

Latest Recipes

ये भी पढे -  आज बॉलीवुड के कई बड़े अभिनेता आएंगे शाम को 4:30 बजे लाइव होगा बड़ा एलान

24 February 2021 Love and Business Rashifal (Horoscope in Hindi)- बुधवार 24 फ़रवरी 2021, लव लाइफ और बिज़नस राशिफल

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -
Khabari Londa