भारत चीन विवाद पर अमेरिका ने कहा वो मध्यस्थता करने को तैयार

0
7
India-china-Border-laddakh

भारत और पड़ोसी देश चीन के मध्य बढ़ते सीमा पर दबाव पर अब अमेरिका भी कूद गया है। भारत और चीन लद्दाख क्षेत्र मे जहां दोनों देश अपनी सैनिको की संख्या बड़ा रहे है दोनों देश की सैन्य टुकड़िया कुछ दूरी पर आमने सामने है ऐसे हालात मे सयुंक्त राज्य अमेरिका के प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प ने दोनों देशो के बीच मिडिएटर बनने को तैयार है जिससे दोनों देशो मे तनाव कम हो और मामला सुलझ सके।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने ट्वीट करके कहा की हमने भारत और चाइना को कहा है की “सयुंक्त राज्य अमेरिका दोनों देशो के बीच हुये सीमा विवाद पर मधयस्था करने को तैयार और सक्षम है धन्यवाद”।

भारत और चीन के मध्य चल रहे सीमा तनाव पर अमेरिका या किसी दूसरे देश ने पहली बार बयान दिया है अमेरिका के प्रेसिडेंट का ये बयान को इस विवाद की गंभीरता बता रहा है । राष्ट्रपति तृम्प ने मामले की गंभीरता और भारत-चीन के मध्य तनाव को देखते हुये ही ये बयान दिया है।

ये भी पढे -  स्वास्थ्य मिशन, कोरोना वैक्सीन से लेकर नई साइबर सुरक्षा नीति तक, लाल किले की प्राचीर से पीएम नरेंद्र मोदी की 10 बड़ी घोषणाएं
India-china-Border-laddakh

चाइना के सैनिकों के लद्दाख के क्षेत्र में भारतीय सीमा के अंदर घुस आने और चौकी बनाये जाने की स्थिति को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को एनएसए अजीत डोभाल, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस बिपिन रावत व तीनों सेनाओँ के प्रमुखों के साथ मीटिंग की थी। इस मीटिंग को अंतरराष्ट्रीय मीडिया में काफी प्रमुखता से जगह दी गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति के इस बयान से ठीक पहले अमेरिकी विदेश मंत्रालय की एक वरिष्ठ अधिकारी ने चीन की तरफ से भारतीय सीमा में प्रवेश की घटना को बहुत चिंताजनक करार दिया था। इसके पहले डोकलाम विवाद के दौरान (जुलाई-सितंबर, 2017) में भी अमेरिका ने भारत का पक्ष लिया था।

ये भी पढे -  तीनों सेना प्रमुखों और CDS के साथ रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने तत्काल बुलाई बेठक

दूसरी तरफ बुधवार को चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता से जब सीमा पर भारत से तनाव के बारे में पूछा गया तो चीनी प्रवक्ता का जवाब था कि हालात स्थिर व नियंत्रण में है। दोनो देशों की तरफ से मामले को सुझलाने के लिए सैन्य व कूटनीतिक स्तर पर बातचीत चल रही है।

Posted By – Suresh K. Chauhan

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here