कोरोना के मामले नवंबर में होंगे अपने चरम पर, वेंटिलेटर और आइसोलेशन बेड कम पड़ सकते हैं

Must Try

कोरोना हिन्दी अपडेट – कोरोना वायरस महामारी का चरम नवंबर के महीने में भारत में आएगा। आठ सप्ताह के देश व्यापी लॉकडाउन के कारण महामारी का चरम स्तर 34-76 दिनों के लिए स्थगित कर दिया गया है। उसी समय, 69-97% मामलों को लॉकडाउन के अंत तक कम कर दिया गया था। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च द्वारा गठित एक शोध समूह के एक अध्ययन में यह बात सामने आई। अध्ययन के अनुसार, भारत में आईसीयू बेड और वेंटिलेटर की कमी हो सकती है, जब नवंबर में कोरोना के मामले चरम पर होगे।

ये भी पढे -  कोरोना वायरस महामारी: शनिवार को राजस्थान में कोरोना से तीन की मौत, संक्रमण के 118 नए मामले सामने आए
आइसोलेशन बेड

नवंबर के पहले सप्ताह तक मांग पूरी की जा सकती है, क्योंकि लॉकडाउन के बाद सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों में 60 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इसके बाद, आइसोलेशन बेड 5.4 महीने, आईसीयू बेड 4.6 महीने और वेंटिलेटर 3.9 महीने कम हो सकते हैं।

ये भी पढे -  वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविद -19) और कितने लोगो के लेगा जाने दुनिया भर में 17.89 लाख से अधिक लोगों की हत्या की

हालांकि, अध्ययन में दावा किया गया है कि अगर लॉकडाउन और सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों को नहीं लिया गया तो स्थिति और खराब हो जाएगी। पहले की स्थितियों से यह परिणाम हुआ होगा, अब आने वाले समय में 83% की कमी होगी। शोधकर्ताओं का कहना है कि अगर सार्वजनिक स्वास्थ्य उपायों में 80 प्रतिशत की वृद्धि की जाती है, तो महामारी स्थिति को बहुत कम कर सकती है।

ventilator_covid_19

60 प्रतिशत मौतों को टाला गया था

भारत में कोविड -19 महामारी के लिए एक मॉडल-आधारित विश्लेषण के अनुसार, लॉकडाउन के दौरान बनाए गए रोगियों के परीक्षण, उपचार और आइसोलेशन की अतिरिक्त क्षमता के परिणामस्वरूप उच्च स्तर तक पहुंचने वाले मामलों में 70% कमी आएगी। इसके अलावा, संचयी मामलों में लगभग 27 प्रतिशत की कमी हो सकती है। आंकड़ों के विश्लेषण से पता चला है कि 60 फीसदी तक मौतें हो सकती थीं, जिन्हें टाला गया।

ये भी पढे -  दिल्ली मे कोरोना वायरस ने मचाया कोहराम, हालात हुए बेकाबू
Loading...
ये भी पढे -  दिल्ली मे कोरोना वायरस ने मचाया कोहराम, हालात हुए बेकाबू
- Advertisement -
- Advertisement -

Latest Recipes

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -
Khabari Londa