भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया में मंगलवार को टेस्ट इतिहास में सबसे यादगार जीत दर्ज की ब्रिसबेन में तिरंगा लहराया

Must Try

भारतीय क्रिकेट टीम ने ऑस्ट्रेलिया में मंगलवार को टेस्ट इतिहास में सबसे यादगार जीत दर्ज की। ब्रिस्बेन में, मेजबान टीम के खिलाफ चौथी पारी में 329 रन बनाकर मैच ड्रॉ हुआ था। इस जीत के साथ, बॉर्डर ने दूसरी बार गावस्कर ट्रॉफी पर 2-1 से कब्जा कर लिया। ब्रिस्बेन में तिरंगा लहराकर देश के लोगों को गणतंत्र दिवस से पहले जीत का शानदार तोहफा दिया गया।

भारत ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार मैचों की टेस्ट सीरीज के आखिरी मैच में बराबरी का लक्ष्य हासिल किया। मैच के पांचवें दिन उन्होंने 324 रन बनाकर कमाल का काम दिखाया जो आज से पहले ब्रिस्बेन के मैदान पर नहीं हुआ था। वेस्टइंडीज के खतरनाक गेंदबाजी आक्रमण के सामने मेजबान टीम 1988 में हार गई।

Indian-Cricket-Team

इस ऐतिहासिक जीत के बाद, भारतीय टीम के खिलाड़ियों ने ब्रिसबेन के मैदान पर तिरंगा लहराया। यह जीत गणतंत्र दिवस से पहले उन सभी भारतीयों के लिए एक आश्चर्य थी जो घर पर बैठे थे या स्टेडियम में टीम इंडिया का समर्थन कर रहे थे। यह उन सभी लोगों के लिए था, जिन्होंने चोट के बाद भी मैदान पर युवा कम अनुभवी टीम पर भरोसा जताया था।

ये भी पढे -  श्रेयस अय्यर कप्तान विराट कोहली के घर पर ‘माँ के हाथ का बना डोसा’ लेकर पहुँचे
ये भी पढे -  IND vs AUS: T20 सीरीज से बाहर रवींद्र जडेजा, शार्दुल ठाकुर को मिली जगह

भारतीय टीम ने श्रृंखला का पहला मैच गंवा दिया और उसके बाद वापसी करके इतिहास रच दिया। एडिलेड में भारत को 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा और टीम दूसरी पारी में सिर्फ 36 रनों पर सिमट गई। अजिंक्य रहाणे ने विराट कोहली की अनुपस्थिति में कमान संभाली और भारत ने मेलबर्न में 8 विकेट से जीत दर्ज की। 1-1 से सीरीज़ में ड्रॉ होने के बाद सिडनी टेस्ट ड्रॉ हो गया और फिर ब्रिस्बेन में जीत ने एक ऐसा कमाल कर दिखाया जो हमेशा याद रखा जाएगा।

Loading...
- Advertisement -
- Advertisement -

Latest Recipes

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -
Khabari Londa