राजस्थान के किसान दिल्ली-जयपुर हाईवे पर उतरे, सड़क पर लगा लंबा जाम

Must Try

किसान आंदोलन का आज 18 वां दिन है। किसान वहां फंस गए हैं, और अपने आंदोलन को तेज करने की घोषणा कर रहे हैं। आज, राजस्थान के किसानों ने भी आंदोलन में शामिल होने की घोषणा की है। किसानों ने कहा है कि वे आज जयपुर दिल्ली राजमार्ग को अवरुद्ध कर देंगे, इसके साथ ही किसानों ने 14 दिसंबर को भूख हड़ताल पर जाने की भी धमकी दी है।

इस बीच, आम लोगों के लिए राहत की खबर यह है कि दिल्ली-नोएडा चिल्ला बॉर्डर, जो 12 दिनों से बंद है, अब कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के प्रदर्शन के कारण खोला गया है। शनिवार को, किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मुलाकात की, जिसके बाद सीमा खोलने के लिए एक समझौता किया गया।

ये भी पढे -  Zee TV Serial Kumkum Bhagya Written Episode Update on 6 November 2020: Pallavi Missing Shaving Prachi and Pragya
ये भी पढे -  किसान विरोध: राहुल गांधी और प्रियंका किसानों के समर्थन में राज निवास तक मार्च नहीं कर सकते थे

राजस्थान के शाहजहाँपुर में हरियाणा सीमा के पास किसानों ने जाम लगा दिया है। इसके कारण दिल्ली जयपुर राष्ट्रीय राजमार्ग जाम हो गया है। इसके बाद पुलिस ने बहरोड़ से वाहनों को डायवर्ट किया है। बड़ी संख्या में किसान हाईवे पर जमा हो गए हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग पर लंबा जाम है।

किसान आंदोलन अपने 18 वें दिन पहुंच गया है लेकिन गतिरोध दोनों तरफ से बरकरार है। इस बीच, गृह मंत्री अमित शाह ने नई दिल्ली में पंजाब भाजपा नेताओं के साथ बैठक बुलाई है। अश्विनी शर्मा, सोमप्रकाश सहित पंजाब भाजपा के कई नेता इस बैठक में शामिल हैं।

पंजाब के डीआईजी (जेल) लखमिंदर सिंह जाखड़ ने कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों के समर्थन में इस्तीफा दे दिया है। जाखड़ ने कहा कि उन्होंने रविवार को इस्तीफा दे दिया है। लखमिंदर सिंह जाखड़ ने पंजाब के प्रधान सचिव को एक पत्र लिखा है कि उन्हें समय से पहले रिटायर माना जाए। लखमिंदर सिंह जाखड़ ने कहा कि वह सूचित करना चाहते हैं कि वह अपने किसान भाइयों के साथ खड़े होना चाहते हैं जो कृषि कानूनों के खिलाफ शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे हैं।

ये भी पढे -  कोरोना वाइरस से दुनिया भर में श्रमिकों की आय 3,500 अरब डॉलर से गिर गई
Kisan-Andolan-2020

केंद्रीय वाणिज्य राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने कहा है कि किसान यूनियन नेता जो विरोध को लेकर अड़े हैं, वे अप्रासंगिक हो जाएंगे। केंद्रीय वाणिज्य राज्य मंत्री सोम प्रकाश ने कहा कि यह भी संभव है कि ये नेता संघ पर अपना नियंत्रण खो दें और अन्य किसान नेता उभर सकें। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जो नेता समय पर निर्णय नहीं लेते हैं और नेता नहीं रह पाते हैं।

ये भी पढे -  कोरोना की इस संकट की घड़ी मे भी कंपनिया बड़ा रही हैं पेट्रोल, डीजल के दाम जानिए कारण

हरियाणा पुलिस जयपुर से किसान यात्रा की खबर के लिए सतर्क है। रेवाड़ी के एसपी अभिषेक जोरवाल ने कहा कि हरियाणा पुलिस राजस्थान पुलिस के साथ तालमेल बनाए हुए है। जैसे ही किसान राजस्थान छोड़ेंगे उन्हें जानकारी मिल जाएगी।

ये भी पढे -  IMD ने जारी किया अलर्ट कई राज्यो मे बारिश होने की संभावना

उन्होंने कहा कि भिवाड़ी और रेवाड़ी यातायात को मोड़ दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि यहां धारा -144 लगा दी गई है। इसलिए, उन्हें न तो यहां इकट्ठा होने दिया जाएगा और न ही उन्हें आगे बढ़ने दिया जाएगा। रेवाड़ी में तीन कंपनी अर्धसैनिक बल और जिला पुलिस की तैनाती की गई है। वज्र वाहन की भी व्यवस्था की गई है। उन्होंने कहा कि डबल लेयर सिक्योरिटी है और जरूरत पड़ने पर सीमा को आधे घंटे में बंद किया जा सकता है।

- Advertisement -
ये भी पढे -  कोरोना वाइरस से दुनिया भर में श्रमिकों की आय 3,500 अरब डॉलर से गिर गई
- Advertisement -

Latest Recipes

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -
Khabari Londa