जम्मू-कश्मीर मे सेना को मिली बड़ी कामयाबी, 3 आतंकियो को किया ढ़ेर

Must Try

जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सेना के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक मारे गए आतंकियों की पहचान अभी नहीं हो पाई है। फिलहाल तलाशी अभियान जारी है।

Jammu-Kashmir-Encounter

जम्मू-कश्मीर डीजीपी लोकल आरआर यूनिट के साथ पुलिस ने अनंतनाग के खुलचोहर इलाके में आज के ऑपरेशन में हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर मसूद समेत दो लश्कर आतंकियों को मार गिराया। डोडा जिला एक बार फिर पूरी तरह से आतंकवाद मुक्त है।

बताया जा रहा है कि सोमवार सुबह जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में तीन आतंकवादी मारे गए हैं। मारे गए आतंकवादियों के पास से एक एके राइफल और दो पिस्तौल बरामद किए गए थे। आतंकवादी किसी समूह के हैं, इसकी पहचान अभी नहीं हो पाई है। सुरक्षाबलों ने अनंतनाग के खुलचोहर इलाके में घेरा और ऑपरेशन जारी है।

ये भी पढे -  भूकंप के तेज झटकों से नेपाली धरती एक बार फिर से हिली है।, तीव्रता 6.0 मापी गई
ये भी पढे -  पीएम मोदी आज रात 8 बजे देश को संबोधित करेंगे कई शर्तो से साथ लोकडावन-4

जानकारी के मुताबिक, गुप्त सूचना के आधार पर सुरक्षा बलों ने खुल्चोहर इलाके में कार्रवाई की। इस दौरान आतंकियों से मुठभेड़ शुरू हो गई। सुरक्षा बलों की कार्रवाई में तीन आतंकवादी मारे गए हैं। मारे गए आतंकियों की पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं। सेना पूरे इलाके में तलाशी अभियान चला रही है। माना जा रहा है कि कुछ और आतंकी छिपे हो सकते हैं।

इससे पहले रविवार को, जम्मू-कश्मीर के पुलिस अधिकारियों ने जानकारी दी कि कश्मीर में मारे गए एक आतंकवादी की माँ को एक राइफल के साथ फोटो खिंचवाने और कथित रूप से लोगों को एक आतंकवादी समूह में भर्ती करने के लिए गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया था।

इसके अलावा पुलिस ने कुलगाम में सक्रिय एक आतंकवादी की बहन को भी आतंकवादियों की भर्ती में कथित संलिप्तता के लिए गिरफ्तार किया है। आतंकवादी अब्बास शेख की बहन और मारे गए आतंकवादी तौसीफ की मां नसीमा बानो को 20 जून को गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया गया था।

ये भी पढे -  पीएम मोदी कर सकते हैं आज एक ओर नए राहत पैकेज का ऐलान दीपावली गिफ्ट...

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने कहा कि महिला बानो युवाओं को आतंकवादी रैंक में भर्ती करने में शामिल थी। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि गिरफ्तार महिला की एक तस्वीर, जिसमें वह अपने बेटे के साथ हथियार चला रही है, सब कुछ अपने आप से बताती है। उनका बेटा उस समय एक सक्रिय आतंकवादी था।

ये भी पढे -  भारत ओर चीन के बीच चल रही अफसरो की मीटिंग 12 घंटे बाद खतम

सूत्रों का कहना है कि आतंकी संगठन खराब मौसम पर नजर गड़ाए हुए हैं। जैसे ही मानसून दस्तक देता है और बारिश का दौरा शुरू होता है, आतंकी घुसपैठ की कोशिशें तेज हो जाएंगी। इसके लिए आतंकियों ने अपने मददगारों को भी सक्रिय कर दिया है।

ये भी पढे -  दुनिया मे कोरोना संक्रामक 100 से मिलियन से अधिक हुआ 2.3 मिलियन से ज्यादा लोगो की गई जान

ओजी कार्यकर्ताओं को आतंकवादियों के लिए हथियार उपलब्ध कराने और कश्मीर में घुसपैठ और परिवहन के बाद हथियार उपलब्ध कराने में मदद करने के लिए कहा गया है। हीरानगर में कुछ दिन पहले ही बीएसएफ ने भेजे गए पाकिस्तानी ड्रोन को भी मार गिराया था जिसमें हथियार भेजे गए थे।

गौरतलब है कि मानसून में सरहद पर आतंकियों की घुसपैठ को रोकना सबसे बड़ी चुनौती साबित होगी। आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ के लिए जिस तरह से कठुआ और सांबा जिलों की सीमा का इस्तेमाल किया गया है,

यह मानसून घुसपैठ को रोकने के लिए एक बड़ी चुनौती होगी। कई नालियां दोनों जिलों को पाकिस्तान से जोड़ती हैं। मानसून के दौरान, कई स्थानों पर बारिश के कारण बाड़ क्षतिग्रस्त हो जाती है, जिसका फायदा उठाकर आतंकवादी घुसपैठ करते हैं।

- Advertisement -
ये भी पढे -  LAC पर फायरिंग लद्दाख में पीछा करने की चीन की साजिश में भारतीय सेना विफल
- Advertisement -

Latest Recipes

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -
Khabari Londa