बढ़ते कोरोना के कारण इस बार नही करेगा लालबाग मूर्ति विसर्जन

Must Try

इस वर्ष गणपति उत्सव पर कोरोना वायरस महामारी का प्रभाव भी दिखाई दे रहा है। महाराष्ट्र के सबसे प्रसिद्ध गणपति मंडलों में से एक लालबाग इस बार गणपति विसर्जन नहीं मनाएगा। कोरोना वायरस के खतरे के कारण लालबाग गणपति मंडल ने यह निर्णय लिया है।

lalbaug-raja-ganpati-Utsav

दरअसल, मुंबई पूरे देश में सबसे अधिक कोरोना प्रभावित शहरों में से एक है। इसे देखते हुए, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने सभी मंडलों को आदेश दिया था कि वे हर साल की तरह गणपति उत्सव न मनाएं, क्योंकि इसमें बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा होते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि गणपति की मूर्ति की ऊंचाई केवल 4 फीट तक रखी जानी चाहिए।

ये भी पढे -  पीएम मोदी ने किसान आंदोलन को लेकर तत्काल बुलाई बैठक अमित शाह, राजनाथ सिंह पहुचे
ये भी पढे -  सूर्य ग्रहण को कब और कहां देख सकते हैं कुछ ही देर में लगने वाला हैं ग्रहण

सरकार के इस निर्णय के बाद, शेष गणपति मंडल ने दो मूर्तियाँ बनाने का निर्णय लिया है। एक बड़ी प्रतिमा बनाई जाएगी और एक छोटी। केवल छोटी मूर्ति की पूजा की जाएगी। लेकिन लालबाग राजा मंडल में केवल एक मूर्ति है। यहां कोई छोटी मूर्ति नहीं है, इसलिए बड़ी मूर्ति की पूजा भी की जाएगी।

लालबाग डिवीजन के अधिकारियों ने कहा है कि गणपति की लंबाई कम नहीं की जा सकती। यही नहीं, अगर छोटी मूर्ति भी लाई जाती है, तो बड़ी संख्या में लोग इसके लिए जुटेंगे। ऐसी स्थिति में, न तो कोई मूर्ति होगी, और न ही मूर्ति को लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए विसर्जित किया जाएगा।

ये भी पढे -  कोरोना के खिलाफ झ्ंग लड़ने वाले डॉक्टरों को 3 महीने से नहीं मिला वेतन है,

लोगों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए, लालबाग गणपति मंडल ने न केवल मूर्ति विसर्जन को रोका है, बल्कि दूसरी ओर यह भी तय किया है कि इस दौरान कोरोना प्रभावित लोगों के लिए काम किया जाएगा। इस बार लालबाग मंडल गणपति उत्सव को हीलिंग उत्सव के रूप में मनाएगा। इसके तहत कोरोना में मौत का सामना करने वाले पुलिसकर्मियों की मदद से प्लाज्मा थेरेपी को प्रमुखता दी जाएगी।

ये भी पढे -  एमडीएच ग्रुप के मालिक महाशय धर्मपाल गुलाटी का निधन, 98 वर्ष की आयु में अंतिम सांस ली

बता दें कि गणपति मंडल पहले से ही कोरोना वायरस के संकट में स्वास्थ्य अभियान चला रहा है। इसके तहत सार्वजनिक क्लीनिक चलाए जा रहे हैं और रक्तदान अभियान भी चलाए जा रहे हैं। मंडल के अधिकारियों का कहना है कि लालबाग राजा अपने लोगों को स्वस्थ देखना चाहते हैं, यही कारण है कि इस साल न तो मूर्ति होगी और न ही विसर्जन होगा।

ये भी पढे -  लाखो दोषों को दूर करता है और आकर्षण बढ़ाता भगवान श्री कृष्ण का 'मोरपंख'
- Advertisement -
- Advertisement -

Latest Recipes

ये भी पढे -  अभिनेता अर्जुन कपूर भी हुए कोरोना संक्रमित, कोरोना रोगियों की संख्या बढ़कर हुई 41 लाख के पार

17 April 2021 Love and Business Rashifal (Horoscope in Hindi)- शनिवार 17 अप्रैल 2021, लव लाइफ और बिज़नस राशिफल

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -
Khabari Londa