चीन के मुद्दे को लेकर आज सभी दलो की अहम बैठक सोनिया गांधी व ममता भी होंगी शामील

Must Try

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत-चीन सीमा विवाद पर आज सर्वदलीय बैठक बुलाई है। शाम 5 बजे होने वाली इस बैठक में विभिन्न दलों के अध्यक्षों को आमंत्रित किया गया है। इस आभासी बैठक में, सभी पक्षों को पिछले कुछ दिनों से चीन के साथ चल रहे तनाव के बारे में सूचित किया जाएगा।

PM-Narendra-Modi

बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उद्धव ठाकरे, शरद पवार, अखिलेश यादव, हेमंत सोरेन, ममता बनर्जी, चंद्रबाबू नायडू शामिल होंगे। भारत-चीन सीमा विवाद को लेकर कांग्रेस समेत कई विपक्षी दल केंद्र सरकार पर सवाल उठा रहे हैं। हालांकि, सभी दलों ने केंद्र सरकार के साथ खड़े होने की बात कही है।

ये भी पढे -  जम्मू में पुलवामा को दोहराने की साजिश नाकाम, बस स्टैंड से बरामद सात किलो IED
ये भी पढे -  बॉलीवुड अभिनेत्री करिश्मा कपूर अपना घर बेच रही हैं, घर की कीमत सुनकर चौंक जाएंगे आप

15-16 जून को, सैनिक जय किशोर सिंह की अंतिम यात्रा में बड़ी संख्या में लोग जमा हुए, जिन्होंने गैलवन घाटी में संघर्ष में अपनी जान गंवा दी। इस दौरान वहां मौजूद लोगों ने ata भारत माता की जय ’और he जय किशोर अमर रहे’ के नारे लगाए।

भारत और चीन के बीच गैलवन घाटी में झड़प में जान गंवाने वाले सैनिक जय किशोर सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हुए।

आम आदमी पार्टी को अभी तक सर्वदलीय बैठक में भाग लेने का निमंत्रण नहीं मिला है। AAP नेता संजय सिंह ने ट्वीट किया है, ‘केंद्र में एक अजीबोगरीब अहंकार वाली सरकार चल रही है। आम आदमी पार्टी की दिल्ली में सरकार है।

ये भी पढे -  पतंजलि: योग गुरु बाबा रामदेव आज लॉन्च करेंगे ‘कोरोनील टैबलेट’

पंजाब में मुख्य विपक्षी दल 4 सांसद हैं। लेकिन भाजपा किसी भी महत्वपूर्ण विषय पर AAP की राय नहीं चाहती है। कल की बैठक में प्रधानमंत्री क्या कहेंगे, पूरा देश इंतजार कर रहा है।

मध्य प्रदेश के नायक दीपक कुमार भी उन सैनिकों में से एक थे, जिन्होंने गाल्वन घाटी में अपनी जान गंवाई थी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि शहीद दीपक को हमेशा याद किया जाएगा। उनके परिवार को 1 करोड़ का मानदेय दिया जाएगा, एक सदस्य को नौकरी और एक घर या भूखंड दिया जाएगा।

पूर्वी लद्दाख की गैलवन घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल सहित 20 सैनिक मारे गए। यह पांच दशकों से अधिक समय में दोनों देशों के बीच सबसे बड़ा सैन्य टकराव है। इसने दोनों देशों के बीच सीमा पर पहले से मौजूद गतिरोध को और बढ़ा दिया है।

ये भी पढे -  सचिन पायलट ने सुप्रीम कोर्ट की लड़ाई जीती, कल राजस्थान हाईकोर्ट करेगा फैसला
Loading...
ये भी पढे -  दिल्ली के लिए IMD अलर्ट उतर भारत मे अगले 3 दिनो तकशीतलहर से राहत नही
- Advertisement -
- Advertisement -

Latest Recipes

ये भी पढे -  दुबई में फंसे 20,000 पंजाबी मजदूर, कंपनियां नहीं दे रही पासपोर्ट, सुखबीर सिंह बादल ने विदेश मंत्री के सामने उठाया मुद्दा

राजस्थान के राजसमंद जिले मे नौकरी नही तो वोट नही अभियान शुरू किया, घर घर जाकर कांग्रेस को वोट न देने की अपील की

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -
Khabari Londa