दिल्ली में कोरोना ने गृह मंत्री अमित शाह की चिंता बढाई

0
1
Home-Minister-Amit-Shah

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण की तीव्र स्थिति ने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की चिंता बढ़ा दी है। वह स्थिति को नियंत्रित करने के लिए लगातार बैठकें कर रहे हैं। रविवार को भी उन्होंने उपराज्यपाल अनिल बैजल और अधिकारियों के साथ बैठक की।

Home-Minister-Amit-Shah

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैठक में शामिल हुए केंद्रीय गृह मंत्रालय के अनुसार, कोरोना कंटेंट स्ट्रैटेजी पर उपायों का सुझाव देने के लिए गठित डॉ। वीके पॉल समिति की रिपोर्ट दिल्ली में प्रस्तुत की गई थी।

रिपोर्ट के अनुसार, कन्टेनमेंट ज़ोन में नए सिरे से मैपिंग करने, सीमा के भीतर की गतिविधियों की कड़ी निगरानी और नियंत्रण करने का सुझाव दिया गया है। एक हफ्ते के भीतर केंद्रीय गृह मंत्री की इस तीसरी बैठक में स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव प्रीति सूदन और कई अधिकारी शामिल थे। बैठक में कई अन्य महत्वपूर्ण निर्णय किए गए।

ये भी पढे -  हैप्पी बर्थडे लता मंगेशकर: लता मंगेशकर की कभी शादी नहीं होने के कारण, रफ़ी साहब से विवाद हुआ, जानिए कुछ अनसुनी बातें

एक अधिकारी ने कहा कि बैठक में दिल्ली में कोविद -19 से बुरी तरह प्रभावित क्षेत्रों में संक्रमित और बुरी तरह से मजबूत स्वास्थ्य सेवाओं से अवगत लोगों को पता लगाने की प्रक्रिया पर चर्चा हुई। गृह मंत्री शाह ने दिल्ली सरकार को पॉल समिति की सिफारिशों को लागू करने की सलाह दी।

दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामले पर सोमवार को दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) की बैठक में चर्चा होने की उम्मीद है। गौरतलब है कि दिल्ली में रविवार को तीन हजार नए मरीज आए और 63 लोगों की जान चली गई। राजधानी में अब तक लगभग 60 हजार संक्रमित सामने आ चुके हैं। रोज नए मरीजों की संख्या बढ़ रही है।

ये भी पढे -  यूपी: दो साल से विधानसभा सचिवालय में चल रहा था डेप्युटी डायरेक्टर का फर्जी ऑफिस, किसी को कानो कान खबर नही

सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने गृह मंत्री अमित शाह के साथ चर्चा की, जिसमें ट्रेसिंग को बढ़ाने और अधिक प्रभावित क्षेत्रों में चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने के लिए आवश्यक रणनीतियों की चर्चा की गई। आपको बता दें कि दिल्ली में कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं।

इसके कारण, दिल्ली सरकार ने केंद्र को मामलों की स्थिति के बारे में सूचित किया, जिसके बाद अमित शाह ने दिल्ली की कमान संभाली और राज्य में कोरोना युद्ध तेज कर दिया। अमित शाह के कमान संभालने के बाद, ताबतोड़ बैठकों का दौर चला, जिसके बाद उन्होंने अस्पताल का निरीक्षण किया और वहां आवश्यक निर्देश दिए।

ये भी पढे -  इंग्लैंड दौरे पर जाने से पाकिस्तान के दो खिलाड़ियो ने किया इंकार हैं कोरोना दर

दिल्ली में हर दिन कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। पिछले चार दिनों की बात करें तो हर दिन रिकॉर्ड मामले सामने आ रहे हैं। शनिवार को केवल 3650 संक्रमित पाए गए, जो एक दिन में सबसे अधिक है। हालांकि, इसका प्रमुख कारण कोरोना की जांच में तेजी है। आने वाले समय में, जांच की गति के कारण यह आंकड़ा और बढ़ सकता है।

वहीं, पिछले 24 घंटों में 77 मरीजों की मौत हुई है, लेकिन सबसे बड़ी राहत यह है कि अब तक एक दिन में 7725 लोग ठीक हो चुके हैं। इसलिए, दिल्ली में पहली बार, कोरोना से उबरने वाले रोगियों की संख्या सक्रिय रोगियों से अधिक हो गई है।