राजस्थान राजनीतिक संकट: गहलोत-पायलट में दूरी कम? विधायकों ने सचिन गुट पर कार्रवाई की मांग की

0
2
SachinPilot-AshokGehlot

राजस्थान में, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गुट के कांग्रेस विधायकों ने एक विधायक दल की बैठक में पूर्व उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट सहित उनके गुट के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। राजस्थान में पायलट गुट के विद्रोह के बाद लगभग एक महीने से राजनीतिक संकट जारी है।

rajasthan_corona-update

राजस्थान में रविवार को कांग्रेस विधायक दल की बैठक हुई समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि बैठक में मौजूद विधायकों ने मांग की कि सचिन पायलट और बागी विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इस दौरान पार्टी की ओर से राजस्थान के प्रभारी अविनाश पांडे भी मौजूद थे। कांग्रेस विधायकों ने मंत्री शांति धारीवाल के बयान का समर्थन करते हुए कहा कि जिन लोगों ने पार्टी को धोखा दिया है, उन्हें वापस जाने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए।

ये भी पढे -  अशोक गहलोत ने 31 जुलाई से विधानसभा सत्र बुलाने का नया प्रस्ताव दिया है, बहुमत साबित करने का कोई उल्लेख नहीं है: स्रोत
CM-Deputy_CM_Rajasthan

प्रभारी अविनाश पांडे ने कहा कि वह पार्टी आलाकमान के सामने बागी विधायकों की वकालत नहीं करेंगे। वहीं, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधायकों से विधानसभा में उतनी ही एकजुटता दिखाने को कहा, जितना उन्होंने अब तक दिखाया है। गहलोत ने कांग्रेस विधायक दल और सहयोगी दलों की एक बैठक को संबोधित करते हुए कहा, ‘हम सभी लोकतंत्र के योद्धा हैं। हम यह लड़ाई जीतने जा रहे हैं और साढ़े तीन साल बाद चुनाव जीतेंगे।

उन्होंने विधायकों से कहा कि अब तक जिस तरह की एकजुटता दिखाई गई है, आपको उस एकजुटता को सदन में भी दिखाना होगा। उन्होंने विधायकों को तैयारी के साथ सदन में जाने और फिर अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्रों में जाकर लोक कल्याण कार्यों की सूची पेश करने को कहा है ताकि सरकार उन पर काम कर सके।

ये भी पढे -  राजस्थान कांग्रेस के लिए क्यों जरूरी है सचिन पायलट? सुलह के पीछे 4 प्रमुख कारण

गहलोत ने विधायकों को पत्र लिखा

Rajasthan_cm_ashok-gehlot

रविवार को, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राजस्थान विधानसभा के सभी विधायकों को एक पत्र लिखा और उनसे लोगों के बड़े हित में सच्चाई को खड़ा करने और लोकतंत्र को बचाने के लिए अपील की। पत्र में गहलोत ने सभी विधायकों से राज्य के विकास और समृद्धि के वादों को पूरा करने में उनका सहयोग करने को कहा है। उन्होंने कहा कि मैं आप सभी से अपील करता हूं कि लोकतंत्र को बचाने के लिए, हम पर जनता का विश्वास बनाए रखने और गलत परंपराओं से बचने के लिए, आपको लोगों की आवाज सुननी चाहिए।

ये भी पढे -  राजस्थान उच्च न्यायालय से पायलट ग्रुप को राहत, विधानसभा स्पीकर के नोटिस पर स्टे