कोरोना के कारण हुई तबाही पर बेशर्म चीन को है गर्व, दुनिया में संक्रमित और मृतकों की संख्या दिखाते हुए कहा – हमने जीत हासिल की

Must Try

चीन मे पैदा हुआ कोरोना वायरस ने दुनिया भर में 10 मिलियन से अधिक लोगों को संक्रमित किया है, इसके कारण लगभग 5 लाख लोग मारे गए हैं। हालांकि चीन को इन आंकड़ों पर दुनिया से माफी मांगनी चाहिए,  जहां शर्मिंदगी होनी चाहिए, कम से कम उसे पछतावा हो सकता था, लेकिन इसके विपरीत, वह खुद को विजेता घोषित करने की कोशिश कर रहा है। चीनी सरकार के मुखपत्र ग्लोबल टाइम्स ने खुद को विजेता घोषित किया है, चीन ने दुनिया के 10 सबसे कोरोना प्रभावित देशों के आंकड़े पेश कर रहा है। इतना ही नहीं, ड्रैगन ने यहां तक ​​कहा कि उसे इस जीत पर गर्व है।

corona_virus

कौन सा देश अंत में वायरस को हराएगा? इस शीर्षक के साथ लिखे गए संपादकीय में, सरकारी अखबार ने लिखा है कि रविवार को दुनिया में कोरोना वायरस के संक्रमण के आंकड़े 1 करोड़ से अधिक हो गए और यह वास्तविक संक्रमण का एक नमूना हो सकता है। अमेरिकी रोग नियंत्रण विभाग ने कहा है कि अमेरिका में मामलों की संख्या से 10 गुना अधिक लोग संक्रमित हो सकते हैं। यदि आप इस आंकड़े से अनुमान लगाते हैं, तो दुनिया में 100 मिलियन लोग संक्रमित हो सकते हैं।

ये भी पढे -  देश मे कोरोना का आतंक जारी मरीजो की संख्या बढ़ कर हुई 4 लाख
ये भी पढे -  चीन मे दुबारा फैला कोरोना वायरस का संक्रमण, 53 नए मामलों के बाद कई बाजार बंद; रिहायशी इलाकों में लॉकडाउन

चीन, जिस पर दुनिया में कोरोना वायरस के बारे में जानकारी जारी करने में जानबूझकर देरी करने का आरोप लगाया गया है, दुनिया से अपने आंकड़े छिपा रहा है, लेकिन जैसे-जैसे अन्य देशों में संक्रमित और मृतकों की संख्या बढ़ रही है, चीन खुद को बड़ा विजेता मानता है । चीन का यह रवैया आपको चौंका सकता है, लेकिन ग्लोबल टाइम्स के संपादकीय में इन बातों को बहुत ही सहजता से लिखा गया है, झिझक का कोई मतलब नहीं है।

ग्लोबल टाइम्स ने इस तरह विनाश दिखाया

”कोविड-19 को ट्रैक करने और खत्म करने की सबसे मजबूत योग्यता चीन की है। चीन ने महामारी की पहली लहर को काबू कर लिया और अब देशभर के लोग अलर्ट हैं। सभी चीनी घरेलू संक्रमण को जीरो पर लाने को सहमत हैं।”

ये भी पढे -  अहमदाबाद पहुचे पीएम नरेंद्र मोदी, कोरोना वैक्सीन दवाइयो की लेंगे जानकारी
Globle-Times-China-Report

संपादकीय में आगे लिखा गया है, ”चीन ने पश्चिमी देशों से काफी अच्छा काम किया है, खासकर अमेरिका की तुलना में। अमेरिका कोरोना के खिलाफ शुरुआती जंग में फेल रहा, इसने मानवतावाद के मिशन को लगभग छोड़ दिया और वायरस को 125,000 से अधिक अमेरिकियों के जीवन को लेने दिया।”

ये भी पढे -  देश मे कोरोना का आतंक जारी मरीजो की संख्या बढ़ कर हुई 4 लाख

अखबार ने यहां तक ​​कहा है कि महामारी के दौरान भी राष्ट्रीय मजबूती की प्रतिद्वंद्विता खत्म नहीं हुई है, इसलिए जो देश कम प्रभावित होंगे उन्हें आर्थिक लाभ मिलेगा। चीन ने कोविड -19 मामलों की संख्या को कई बार 0 पर लाया है। लेख में कहा गया है कि अमेरिका को चीन की तुलना में अधिक आर्थिक नुकसान होगा। अंत में लिखा है कि चीन ने महामारी के खिलाफ पहला युद्ध जीता है और यह गर्व की बात है। इस पूरे लेख में, चीन ने मानवीय दृष्टिकोण से भी लोगों की मृत्यु और विनाश पर खेद व्यक्त करते हुए एक शब्द नहीं लिखा है।

ये भी पढे -  पीएम मोदी आज रात 8 बजे देश को संबोधित करेंगे कई शर्तो से साथ लोकडावन-4
Loading...
- Advertisement -
- Advertisement -

Latest Recipes

ये भी पढे -  पाकिस्तान के इमरान खान सरकार के रेल मंत्री शेख राशिद अहमद Covid-19 पॉज़िटिव, कुरैशी पर कोरोना संक्रमण का खतरा

23 February 2021 Love and Business Rashifal (Horoscope in Hindi)- मंगलवार 23 फ़रवरी 2021, लव लाइफ और बिज़नस राशिफल

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -
Khabari Londa