news-aajtak

किसान आंदोलन पर सर्वोच्च सुनवाई जारी, कृषि कानून पर बने रहने के संकेत

सुप्रीम कोर्ट ने आज कृषि कानूनों पर सख्त रुख अपनाया है और सरकार से पूछा है कि क्या यह कानून को निलंबित करता है या इसे रोकना चाहिए। शीर्ष अदालत ने कहा कि किसानों की चिंताओं को समिति के समक्ष रखने की जरूरत है। किसान आंदोलन को लेकर सरकार ने जिस तरह से विवाद को सुलझाया है, उस पर अदालत ने नाराजगी जताई है।

अटॉर्नी जनरल– जल्दबाजी मत करो।

मुख्य न्यायाधीश – जल्दबाजी में हमें लेक्चर न दें। हमने बहुत समय दिया है।

एससी संकेत कृषि कानून पर बने रहते हैं

सर्वोच्च न्यायालय ने कानून के कार्यान्वयन पर रहने का संकेत दिया। शीर्ष अदालत ने कहा कि हम तब तक रहेंगे जब तक समिति के सामने बातचीत चल रही है। हम रहने वाले हैं

सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से कहा कि हम यह नहीं समझते कि आपने मामले को सही तरीके से संभाला है। कोर्ट ने कहा कि हम अभी कानून की मेरिट पर नहीं जा रहे हैं लेकिन हमारी चिंता मौजूदा जमीनी स्थिति को लेकर है जो किसानों के प्रदर्शन के कारण हुई है।

किसान संगठनों के वकील दुष्यंत दवे: हम 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च नहीं करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि संसद में ध्वनिमत से इतना महत्वपूर्ण कानून बिना बहस के कैसे पारित हो गया।

मुख्य न्यायाधीश: हमें खुशी है कि दवे ने ऐसा कहा।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम विरोध के खिलाफ नहीं हैं लेकिन अगर कानून पर रोक लगा दी जाती है तो क्या किसान विरोध स्थल से अपने घर लौट जाएंगे?

news-aajtak

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि किसान कानून वापस करना चाहते हैं जबकि सरकार मुद्दों पर चर्चा करना चाहती है। अब हम एक समिति बनाएंगे और हम कानून के क्रियान्वयन पर तब तक कायम रहेंगे, जब तक समिति की बातचीत जारी रहेगी।

ये भी पढे -  लंबे समय से चल रही बीमारी से गोल्डन बाबा का हुआ निधन एम्स थे भर्ती

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि हम प्रस्ताव करते हैं कि किसानों के मुद्दों के समाधान के लिए एक समिति बनाई जाए। हम यह भी प्रस्ताव करते हैं कि कानून का कार्यान्वयन रोक दिया जाए। किससे फरियाद करें

मुख्य न्यायाधीश: श्री साल्वे, एक आदेश से सब कुछ हासिल नहीं किया जा सकता। किसान समिति के पास जाएंगे। अदालत एक आदेश पारित नहीं कर सकती है जो नागरिक प्रदर्शन नहीं कर सकते। स्थिति दिन पर दिन खराब होती जा रही है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं और सर्दियों में यात्रा कर रहे हैं।

हरीश साल्वे: अगर अदालत कानून को प्रतिबंधित करती है, तो किसानों को अपना आंदोलन वापस लेना चाहिए।

CJI: किसान कानून का विरोध कर रहे हैं। उन्हें समिति के सामने अपनी समस्याएं कहने दें। हम समिति की रिपोर्ट दाखिल करने के बाद कानून पर निर्णय लेंगे।

मुख्य न्यायाधीश: आइए हम स्पष्ट रूप से हमारे इरादे को स्पष्ट करें। हम इस मुद्दे का एक सार्वभौमिक समाधान चाहते हैं। यही कारण है कि हमने आपको पिछली बार (केंद्र सरकार) कहा था कि क्यों नहीं इस कानून को कुछ दिनों के लिए स्थगित कर दिया जाए? आप या तो एक समाधि हैं या एक समस्या। मुझे बताइए कि आप कानून पर प्रतिबंध लगाएंगे या नहीं? नहीं तो हम आवेदन करेंगे।

ये भी पढे -  1 August 2020 Horoscope in Hindi - शनिवार 1 अगस्त 2020 लव लाइफ और बिज़नस राशिफल, जानिए क्या कहती है आज आपकी किस्मत

चीफ जस्टिस एसए बोबडे- जिस तरह की प्रक्रिया चल रही है उससे हम निराश हैं। उन्होंने अटॉर्नी जनरल को बताया कि सरकार जिस तरह से किसान आंदोलन को संभाल रही है, उससे शीर्ष अदालत बेहद परेशान थी। अदालत ने कहा, “हमें यह भी नहीं पता है कि कानून पारित करने से पहले आपने किस तरह की प्रक्रिया का पालन किया।”

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई जारी

सुप्रीम कोर्ट ने कृषि कानूनों के खिलाफ दायर याचिकाओं पर सुनवाई शुरू कर दी है। द्रमुक सांसद तिरुचि शिवा, राजद सांसद मनोज कुमार झा ने तीन कृषि कानूनों की वैधता पर सवाल उठाते हुए याचिका दायर की थी।

आज की महत्वपूर्ण सुनवाई क्यों थी?

मुख्य न्यायाधीश एसए बोबडे की अध्यक्षता वाली पीठ इन याचिकाओं पर सुनवाई कर रही है। चूंकि केंद्र और किसान संगठनों के बीच अगली बैठक 15 जनवरी को होनी है, इसलिए एससी की राय बहुत महत्वपूर्ण हो जाती है। 6 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि स्थिति में कोई सुधार नहीं हुआ है। इसके अलावा, जस्टिस एएस बोपन्ना और वी रामसुब्रमण्यम की खंडपीठ ने कहा था कि अगर सोमवार (11 जनवरी) को बताया जाता है कि चर्चा अभी भी जारी है, तो (अदालत) सुनवाई स्थगित कर देगी। इससे पहले, शीर्ष अदालत ने 17 दिसंबर 2020 को किसानों को बिना किसी हिंसा या किसी भी नागरिक के जान या माल के नुकसान के विरोध प्रदर्शन जारी रखने की अनुमति दी थी, इस विरोध को एक मौलिक अधिकार करार दिया था।

ये भी पढे -  दिल्ली दंगे के बाद, अब PFI का नाम बेंगलुरु हिंसा में भी सामने आया, जानिए कैसे जुड़ रहे हैं कनेक्शन

आंदोलन का 47 वां दिन, किसान डगमगाने को तैयार नहीं

नए कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठनों का आंदोलन सोमवार को 47 वें दिन में प्रवेश कर गया। केंद्र सरकार के साथ कई दौर की बातचीत के बाद, किसान संगठनों के नेता आंदोलन को तेज करने के लिए रणनीति तैयार कर रहे हैं। अगले दौर की वार्ता 15 जनवरी को होनी है। किसान संगठनों ने घोषणा की है कि अगर 26 जनवरी से पहले उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है, तो वे गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में ट्रैक्टर परेड करेंगे।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत का कहना है कि अगर केंद्र के साथ हुई बैठक में नतीजे नहीं मिले, तो किसान भी बैठे हैं। रविवार को आईएएनएस से बात करते हुए उन्होंने कहा, “सरकार ने इस आंदोलन को इतना बढ़ा दिया है, अगर हम बात करते हैं तो क्या नहीं हो सकता है। हम एक निर्णय चाहते हैं लेकिन सरकार यह भी चाहती है।”

Loading...

About Rajni Chauhan

Check Also

news

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस के 614 नए मामले आए सामने, नौ और मरीजों की हुई मौत

मध्य प्रदेश में शुक्रवार को कोरोना वायरस के संक्रमण के 614 नए मामले सामने आए, …

bullet-full-web-series-download-watch-online-free-mx-player

Bullets Web Series Download All Episodes Free – Sunny Leone (2021)

Bullets Web Series Download All Episodes Free -You Can Download MX Player From Google App …

Tandav Web Series Download 720p

Tandav Web Series Download All Episodes HD 480p, 720p – Saif Ali Khan 2021 Web Series Amazon Prime

Tandav Web Series Download All Episode Full HD – Amazon Prime Video presents Tandav Official …

Pieces of a Woman movie download

Pieces of a Woman Full Movie Download in Hindi Netflix 2021 Movie

Pieces of a Woman 2020 English (Hindi DUbbed) x264 WebRip 480p [248MB] | 720p [794MB] …

REVIEW-Shadow-in-the-Cloud-Khabarilonda

Shadow in the Cloud Movie Download 2021 [Eng] Hindi Dubbed HD

Shadow in the Cloud Movie Download 2021 English (Hindi DUbbed) x264 WebRip 480p [258MB] | …

new-corona-strain_1608766416

दिल्ली के 4 और निवासियों में कोरोना का नया स्ट्रेन पाया गया, DDMA ने SOP का पालन करने का आदेश दिया

दिल्ली में चार और लोगों में कोरोना वायरस का एक नया तनाव पाया गया है। …

arms_

दिल्ली में अवैध हथियारों की बड़ी खेप पकड़ी, आरोपियों को किया गिरफ्तार कार मे छुपाए तस्कर पिस्तौल और कारतूस

दिल्ली पुलिस ने राजधानी में अत्याधुनिक अवैध हथियारों की एक बड़ी खेप के साथ एक …

Vaccien_Corona

बिहार में तैयारी पूरे, एक सप्ताह के भीतर टीकाकरण, आज 114 स्थानों पर ड्राई रन आज

बिहार में एक सप्ताह के भीतर कोरोना टीकाकरण शुरू हो जाएगा। राज्य स्वास्थ्य समिति के …

RRR

RRR Full Movie Download Hindi Dubbed [2021] –

Breaking News !! RRR Full Movie Download Hindi Dubbed Online Leaked By Tamilrockers, Filmyzilla, Filmywap, …

Kaagaz Full Movie Download HD 1080p 720p 600MB, 1GB

Kaagaz Full Movie Download Available on Fimywap, 9xMovies, and Other Torrent Sites

Kaagaz Full Movie Download has been leaked by Fimyzilla, Filmywap, Movierulz and Telegram Group, and …