Home International Hindi News अमेरिका से बेहद भड़का तालिबान, कहा- जानबूझ कर बर्बाद किया गया

अमेरिका से बेहद भड़का तालिबान, कहा- जानबूझ कर बर्बाद किया गया

0
17
Taliban very angry with America, said - was deliberately ruined

तालिबान ने अमेरिका पर काबुल हवाईअड्डे पर जानबूझकर विमानों और अन्य वाहनों को नष्ट करने का आरोप लगाया है। तालिबान ने कहा है कि यह सब बदकिस्मती की वजह से किया गया है। एजेंसी ने एरियाना न्यूज के हवाले से बताया कि काबुल से अमेरिकी वायुसेना के आखिरी विमान के उड़ान भरने के बाद तालिबान आतंकवादियों ने काबुल हवाईअड्डे पर कब्जा कर लिया।

इसके बाद तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्लाह मुजाहिदीन अपने साथियों के साथ वहां पहुंचे। उन्होंने वहां तालिबान आतंकवादियों को संबोधित किया। उन्होंने कहा था कि आखिरकार आज देश अमेरिका से पूरी तरह आजाद हो गया है। यह एक खुशी का दिन है। मुजाहिदीन समेत अन्य तालिबान नेताओं ने भी हवाईअड्डे का निरीक्षण किया था और वहां मौजूद विमानों और हेलीकॉप्टरों की जांच की थी.

Taliban very angry with America, said - was deliberately ruined

आपको बता दें कि अमेरिका ने काबुल में ही हजारों वाहनों, बख्तरबंद वाहनों, हथियारों को पीछे छोड़ दिया है। जाने से पहले उसने काबुल एयरपोर्ट पर वाहनों में तोड़फोड़ की थी। यही हाल विमानों का भी है। प्रस्थान से पहले विमानों को उड़ान भरने के लिए अनुपयुक्त छोड़ दिया गया था। हेलीकॉप्टरों के बाहरी शीशे ही नहीं टूटे बल्कि वे तकनीकी रूप से अक्षम भी थे। अमेरिका ने जाने से पहले अपनी अत्याधुनिक रॉकेट रक्षा प्रणाली भी की थी।

अमेरिका ने कहा कि तालिबान अब उनका इस्तेमाल नहीं कर पाएगा। अमेरिका ने जिन विमानों को नुकसान पहुंचाया है उनमें सी-130जे हरक्यूलिस विमान और एमआई-17 हेलीकॉप्टर समेत कई अन्य छोटे विमान शामिल हैं। इन विमानों को देखकर अब तालिबान का अमेरिका पर गुस्सा फूट रहा है। तालिबान नेता अनस हक्कानी का कहना है कि अमेरिका सालों से हमें तबाह करने की कोशिश कर रहा था, लेकिन काबुल एयरपोर्ट इस बात का गवाह है कि वास्तव में कौन बर्बाद हुआ है।

हक्कानी का कहना है कि अमेरिका ने देश की राष्ट्रीय संपत्ति को बर्बाद कर दिया है। तालिबान के नेता का कहना है कि वह एयरपोर्ट को जल्द से जल्द शुरू करने पर जोर दे रहे हैं. अमीरात के सभी नेता भी यही चाहते हैं। खुशी की बात यह है कि घुसपैठिए अब यहां से भाग गए हैं। हर बार तालिबान से हार गया। यह सच है कि यहां अमेरिका की हार हुई, इसलिए उसे भागना पड़ा।