इंग्लैंड के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा, क्रिकेट की गेंद से कोरोना वाइरस का संक्रमण फैलने का खतरा

Must Try

ब्रिटिश प्रधान मंत्री बोरिस जॉनसन ने क्रिकेट बॉल से कोरोना वाइरस का संक्रमण फैलने का जोखिम बताया है। इसके साथ ही उन्होंने कहा है कि इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच द्विपक्षीय सीरीज के सामने कोई चुनौती नहीं है। हाउस ऑफ कॉमन्स में कंजर्वेटिव पार्टी के सांसद ग्रेग क्लार्क के एक सवाल के जवाब में जॉनसन ने कहा कि क्रिकेट पर प्रतिबंध नहीं हटाया जाएगा, लेकिन इंग्लैंड और वेस्टइंडीज टेस्ट श्रृंखला पर 8 जुलाई से संकट के बादल नहीं मंडरा रहे हैं।

boris-UK-pm

कोरोना वायरस की महामारी के कारण मध्य मार्च से क्रिकेट गतिविधियाँ विराम पर हैं। ऐसे में इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच 8 जुलाई से होने वाली तीन मैचों की टेस्ट सीरीज से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी होने जा रही है।

ये भी पढे -  IPL 2020 राजस्थान रॉयल्स ने शुक्रवार को किंग्स इलेवन पंजाब को 7 विकेट से हराया..
ये भी पढे -  IPL 2020 राजस्थान रॉयल्स ने शुक्रवार को किंग्स इलेवन पंजाब को 7 विकेट से हराया..

प्रधान मंत्री जॉनसन ने कहा, ”क्रिकेट के साथ जो समस्या है, उसे हर व्यक्ति समझता है। क्रिकेट बॉल से प्राकृतिक तौर पर बीमारी फैलने का खतरा है।  हम 24 घंटे अपने वैज्ञानिकों के साथ रहते हैं और हम यह कोशिश कर रहे हैं कि क्रिकेट को अधिक से अधिक कोविड-फ्री रखा जाए, लेकिन अभी हम गाइडेंस को नहीं बदल सकते।”

बोरिस जॉनसन ने इंग्लैंड में कई चरणों में लॉकडाउन छूट दी है, लेकिन सुनियोजित क्रिकेट उनमें से नहीं है। वहीं, सांसद ग्रेग क्लार्क ने कहा कि हमने क्रिकेट का आधा सीजन गंवा दिया है, इसलिए हमें खेल में लौटना चाहिए। इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच 3 टेस्ट मैचों की सीरीज 8 जुलाई से शुरू होगी। इंग्लैंड और वेल्स काउंटी बोर्ड शौकिया स्तर पर क्रिकेट शुरू करने के लिए सरकार से बात कर रहे हैं।

ये भी पढे -  पाकिस्तान के 5 खिलाड़ियों की स्टेडियम में हुई कोरोना की जांच, इंग्लैंड दौरे पर जाएंगी टिम
cricket_ball

बता दें कि ICC ने गेंद को चमकाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली लार के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया है। ICC ने अनिल कुंबले की अध्यक्षता में ICC क्रिकेट समिति की सिफारिश को स्वीकार कर लिया है और अब टेस्ट मैच के दौरान सब्स्टीट्यूट लाने की अनुमति दी गई है यदि वह कोरोना वायरस से संक्रमित है।

यदि टेस्ट मैच के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण के लक्षण पाए जाते हैं, तो खिलाड़ी के सब्स्टीट्यूट का विकल्प होगा। रियायत विकल्प के रूप में मैच रेफरी इस विकल्प को स्वीकार करेगा। साथ ही यह भी कहा कि यह नियम वनडे या टी 20 में लागू नहीं होगा। यह नियम 8 जुलाई से इंग्लैंड और वेस्टइंडीज के बीच तीन मैचों की टेस्ट श्रृंखला से लागू होगा। यह श्रृंखला दर्शकों के बिना आयोजित की जाएगी। यह ज्ञात है कि यह मार्च के बाद खेली जा रही पहली अंतर्राष्ट्रीय श्रृंखला है।

ये भी पढे -  कुमार संगकारा से पूछताछ 2011 का वर्ल्ड कप फिक्सिंग का आरोप
Loading...
ये भी पढे -  लंबे समय के बाद साउथ अफ्रीका टिम ट्रेनिंग के लिए उतरी मैदान मे
- Advertisement -
- Advertisement -

Latest Recipes

ये भी पढे -  CSK के पूर्व क्रिकेटर ने दावा किया- CSK सहवाग की कप्तानी करना चाहती थी, 2008 में धोनी की नहीं'

बॉलीवुड एक्टर विवेक ओबेरॉय के खिलाफ FIR दर्ज हुई, अभिनेता ने मुंबई पुलिस का किया शुक्रिया, बोले मुझे इसका एहसास है

- Advertisement -

More Recipes Like This

- Advertisement -
Khabari Londa